Skip to main content
Image

प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बद्दतर हो चुकी है-कांग्रेस 



रायपुर। कांग्रेस सदस्यों ने इस मुद्दे पर गृह मंत्री के जवाब से असंतुष्ट होकर बहिर्गमन कर सदन से बाहर चले गए। 
विधानसभा में आज नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव के साथ भूपेश बघेल सत्यनारायण शर्मा ने रायपुर में बैंक डकैती आरंग पेट्रोल पंप एवं जांजगीर चांपा में राईटर केश कलेक्शन कंपनी में लूट का मामला उठाया। कांग्रेस सदस्यों ने कहा कि प्रदेश में चोरी, डकैती, लूट, हत्या होना आम हो चुका है। इससे पूरे राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति बद्दतर हो चुकी है। 
ध्यानाकर्षण सूचना के माध्यम से उठाए गए कांग्रेस नेताओं के इन आरोपों पर गृहमंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि यह कहना सही नहीं है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति अत्यंत बद्दतर हो चुकी है एवं चोरी डकैती, लूट, हत्याएं आदि प्रदेश में आम हो चुकी है। अपितु सही यह है कि पुलिस ने लगातार मेहनत कर अधिकांश प्रकरणों में तत्परता से अनुसंधान करते हुए अपराधियों की पतासाजी कर उन्हें गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। छत्तीसगढ़ राज्य में रोजगार के नए अवसरों के कारण देश के विभिन्न प्रदेशों से लोगों का राज्य में आवागमन बढ़ा है। परंतु बढ़ती आबादी के बावजूद भी राज्य में अपराध नियंत्रण में है।
उन्होंने कहा कि दिनांक 24 नवंबर से 27 नवंबर 2017 के मध्य जिला रायपुर की स्टेट बैंक मांढर शाखा में गैस कटर से नकबजनी की घटना पर  थाना विधानसभा में अपराध क्रमांक-322/17 धारा  457 , 380 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक रायपुर द्वारा अज्ञात आरोपियों की पतासाजी के लिए इनाम की उद्घोषणा एवं विशेष टीम का गठन किया गया। प्रकरण में लगातार अथक प्रयास करते हुए राजधानी पुलिस द्वारा दो आरोपियों की गिरफ्तारी दिनांक 18-12-2017 को की जाकर 17 लाख रुपए नगदी जो चोरी किए गए जेवरातों को बेचकर प्राप्त किए गए एवं जेवरात 359 ग्राम जब्त किए गए हैं। घटना में प्रयुक्त कार आई-20 जब्त की गई है। प्रकरण की विवेचना जारी है। 
उन्होंने कहा कि जांजगीर चांपा में दिनांक 26-11-2017 को थाना चांपा अंतर्गत जगदल्ला मोहल्ले में अज्ञात आरोपियों द्वारा राईटर केश कलेक्शन कंपनी से रकम लूटने की घटना पर प्रार्थी अभय बजाज द्वारा 63 लाख 52 हजार 780 रुपए लूटने की रिपोर्ट पर थाना चांपा में अपराध क्रमांक -345/17 धारा 395, 397 भादवि 27 आम्र्स एक्ट में पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज बिलासपुर द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जांजगीर चांपा के नेतृत्व में 9 सदस्यीय विशेष टीम का गठन कर आरोपियों की पतासाजी के लिए 30 हजार रुपए इनाम की उद्घोषणा की गई। पुलिस द्वारा लगातार कार्रवाई करते हुए प्रकरण में दिनांक 18/19-12-2017 को पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर प्रकरण सुलझा लिया गया है। प्रकरण में आरोपियों से 20 लाख रुपए से अधिक की राशि एक कट्टा मय कारतूस आदि जब्त किए गए हैं। 
दिनांक 10-12-2017 को आरंग के रसनी बीपी पेट्रोल पंप में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा मारपीट कर मोबाइल लूटने की घटना पर आरंग पर अपराध क्रमांक -563/17धारा  394 भादवि पंजीबद्ध कर लगातार विवेचना की जा रही है। अज्ञात आरोपियों की पतासाजी के लिए पुलिस अधीक्षक रायपुर द्वारा इनाम की उद्घोषणा की गई है। 
उन्होंने कहा कि यह कहना सही नहीं है कि राजधानी रायपुर में अपराधी आसानी से वारदात कर रहे हैं। बल्कि सही यह है कि वर्ष 2017 में रायपुर पुलिस ने अधिकांश जघन्य तथा संवेदनशील मामलों को समय रहते हल किया है। जिला रायपुर में 1 अप्रैल 2016 से 30 जून 2017 की स्थिति हत्या के 81 प्रकरणों में से 70 प्रकरणों में 122 आरोपियों, लूट के 80 प्रकरणों में से 63 प्रकरणों में 154 आरोपियों, डकैती के 6 सभी प्रकरणों में 34 आरोपियों एवं चोरी के 1522 प्रकरणों मे से 357 प्रकरणों में 513 आरोपियों को गिरफ्तार कर कार्रवाई की गई है। यह कहना सही नहीं है कि राजधानी रायपुर में आपराधिक घटनाएं होना आम बात हो गई है।  
गृहमंत्री पैकरा ने कहा कि बल्कि सही यह है कि पुलिस द्वारा सभी घटनाओं पर त्वरित कार्यवाही की गई है एवं आपराधिक घटनाओं को नियंत्रित किया गया है। 
गृहमंत्री ने कहा कि यह भी कहना सही नहीं है कि अपराधियों को पुलिस का कोई भय नहीं है और छग अपराधियों का गढ़ बनता जा रहा है। वस्तुस्थिति यह है कि 1 अप्रैल 2016 से 30 जून 2017 तक की अवधि में पुलिस द्वारा प्रदेश में हत्या के 1151 प्रकरणों में से 938 प्रकरणों में 1842 आरोपियों, लूट के 456 प्रकरणों में से 330 प्रकरणों में 786 आरोपियों, चोरी के 7291 प्रकरणों में से 2364 प्रकरणों में से 4010 आरोपियों एवं बलात्कार के 1897 प्रकरणों में से 1772 प्रकरणों में 2209 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की गई है। हत्या के प्रकरणों में वर्ष 2016 की तुलना में वर्ष 2017 में लगभग 6 प्रतिशत एवं लूट के प्रकरणों में लगभग 2 प्रतिशत की कमी आई है। 
यह कहना सही नहीं है कि अन्य राज्य के अपराधी गिरोह प्रदेश में लगातार अपने मनसूंबे को अंजाम दे रहे है। एवं अपराधियों को पुलिस का कोई भय नहीं है। बल्कि सही यह है कि पुलिस ने लगातार कार्यवाही कर अंतर्राष्ट्रीय उठाईगिरी गिरोह , नाईजेरियन गिरोह के आरोपियों को गिरफ्तार कार्यवाही की गई है। पुलिस द्वारा माढंर स्थित बैंक से नकबजनी  एंव जांजगीर-चांपा की लूट की घटना सहित कई मामलों में अंतर्राज्यीय अपराधियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही कर कई महत्वपूर्ण प्रकरणों को सुलझाने में सफलता हासिल हुई है। जिससे लोगों में पुलिस एवं शासन के प्रति विश्वास बढ़ा है। 

Add new comment

Plain text

  • No HTML tags allowed.
  • Lines and paragraphs break automatically.
  • Web page addresses and email addresses turn into links automatically.